Default Image

Months format

Show More Text

Load More

Related Posts Widget

Article Navigation

Contact Us Form

Terhubung


साहित्यिक समूह *फुरसत में*नव कार्यकारिणी का हुआ गठन, New executive formed for literary group *in leisure*,


जमशेदपुर। वरिष्ठ  महिला साहित्यकारों के समूह #फुरसत में एक विशिष्ट बैठक में कार्यकारिणी का नव गठन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता डा. सरित किशोरी श्रीवास्तव और संचालन डा. मनीला कुमारी ने किया। अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलित कर मां सरस्वती को पुष्प अर्पण के साथ कार्यक्रम प्रारंभ हुआ। मुख्य अतिथि एवं संस्था की संस्थापक अध्यक्ष श्रीमती आनंद बाला ने अपने संबोधन में सभी को अपना आशीर्वाद दिया। उन्होंने सभी सदस्यों को बधाई देते हुए फुरसत में समूह की उत्तरोत्तर प्रगति की कामना की। उनकी गरिमामय उपस्थिति सबके लिए प्रेरणादायक थी। डा सरित किशोरी श्रीवास्तव ने *कुछ भावनाएं ऐसी भी होती हैं। जिन्हें अभिव्यक्त कर पाना आसान नहीं होता।*फुरसत में समूह भी एक परिवार की तरह आत्मिक भावनात्मक डोर से जुडा है.हम सब.साथ साथ हैं।


विशिष्ट अतिथि श्रीमती छाया प्रसाद ने भी कहा कि *सभी सदस्यों के आदर स्नेह. सद्भाव से बंधे इस समूह में एक परिवार का अहसास होताहै  कोषाध्यक्ष डा मीनाक्षी कर्ण का कहना था*आनंद, प्रेम, सौहार्द,सहयोग की भावना से परिपूर्ण है यह साहित्यिक परिवार सभी सम भाव से रहते हैं। आपसी तालमेल और समझ के कारण ही समूह में किसी में ना तो बड़े होने का भाव है ना ही छोटे, इस तरह का अनुभव अन्य किसी भी समूह में नहीं मिलता है।


कवयित्री कथाकार माधुरी मिश्रा और संस्था की प्रबंध समिति की अध्यक्ष अपनी संस्था के संबंध में वे कहती हैं कि अन्य संस्थओं की तरह विवादों. विरोधाभासों से परे शांति और सुकून के साथ फुरसत में सृजन करना सचमुच गौरवान्वित करता है। वरिष्ठ कथाकार .गीता दुबे जी ने कहा कि समूह में सबकी की कार्य कुशलता  और विनम्रता ने मुझे इस साहित्यिक परिवार से जोडा है.और एक आत्मिक रिश्ता बना है।


डा मनीला कुमारी ने इस आयोजन को सुचारु रुप से संचालित करते हुए कहा*. हमारे साहित्यिक परिवार का गठन ही समाज हित में अपनी भावनाओ को अभिव्यक्त करना है। किसी वाद विवाद के परे.समूह की इस भावना का हम सम्मान करते हैं और  गौरवान्वित हैं।

कार्यक्रम के अंत में नयी कार्यकारिणी का गठन हुआ। जिसमें मार्गदर्शक और संरक्षक श्रीमती आनंद बाला शर्मा, डा सरित किशोरी श्रीवास्तव, श्रीमती छाया प्रसाद। अध्यक्ष- पद्मा मिश्रा, उपाध्यक्ष -.श्रीमती रेणुबाला मिश्र, सचिव-डा मनीला कुमारी, कोषाध्यक्ष- डा मीनाक्षी कर्ण, प्रबंध समिति की अध्यक्ष -श्रीमती माधुरी मिश्र, मीडिया प्रभारी संयुक्त दायित्व-- पद्मा मिश्रा और गीता दुबे। इसके अतिरिक्त सांस्कृतिक समिति में भी सदस्यों का चुनाव हुआ।

श्रीमती सुधा अग्रवाल..श्रीमती किरण सिन्हा. डा उमा सिंह. श्रीमती आरती श्रीवास्तव, श्रीमती अनीता निधि, सुस्मिता सलिलात्मजा, सरिता सिंह, सरस्वती वंदना-वीणा पाण्डेय भारती..इंदिरा पाण्डेय, मंच संचालन (तरंग गोष्ठी)-इंदिरा पाण्डेय मंच संचालन-डा मनीला कुमारी। धन्यवाद  ज्ञापन करते हुए अध्यक्ष श्रीमती पद्मा मिश्रा ने सबका आभार व्यक्त करते हुए कहा कि पदों का बंटवारा तो किसी भी कार्य को सुचारु रुप से चलाने के लिए है। वस्तुत:हम सब एक हैं .अनेकता मे.एकता की भावना को परिभाषित करता है। हमारा साहित्यिक समूह परिवार.और नवगठित कार्यकारिणी को हार्दिक बधाई दी।

No comments:

Post a Comment

GET THE FASTEST NEWS AROUND YOU

-ADVERTISEMENT-

NewsLite - Magazine & News Blogger Template