Default Image

Months format

Show More Text

Load More

Related Posts Widget

Article Navigation

Contact Us Form

Terhubung


पुरियारा : अखान यात्रा पर धमाल मचाएगी स्थानीय विडियो एलबम कलाकार, Puriyara: Local video album artist will create a blast on Akhan Yatra

 


चांडिल। नीमडीह प्रखंड अंतर्गत पुरियारा गांव में अखान यात्रा के पावन अवसर पर 16 जनवरी को मां मंगल चंडी पूजा एवं मेला समिति पुरियारा,  जुगीलोंग व कादला द्वारा आयोजित की जा रही प्रसिद्ध खेलाई चंडी मेला में कुंदन कुमार, कनिका कर्मकार व प्रशांत दास डांस धमाका के बैनर तले राढ़ बंगला विडियो एलबम के मशहूर अभिनेता शैलेंद्र, ग्लैमर क्वीन अभिनेत्री रितु, गायक कुंदन कुमार, गायिका कनिका कर्मकार समेत दर्जनों कलाकारों द्वारा गीत संगीत एवं नृत्य से दर्शकों को मनोरंजन करेंगे। 


मेला समिति के सचिव निताई गोप ने कहा कि मकर संक्रांति व अखान यात्रा के पावन अवसर पर पुरियारा गांव स्थित मां मंगल चंडी मंदिर में झारखंड समेत पश्चिम बंगाल से हजारों श्रद्धालु पहुंचते हैं। श्रद्धालुओं के मनोरंजन के लिए आधुनिक रंगमंच का आयोजन किया जाता है। निताई गोप ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में पूजा - अर्चना एवं मेला - त्यौहार मनोरंजन का प्रमुख साधन है। मेला एक ऐसा उत्सव है जो हमारे भारतीय संस्कृति और परंपराओं का महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह एक ऐसा सामाजिक और सांस्कृतिक आयोजन है जहां लोग एक साथ आते हैं, खुशी मनाते हैं और मनोरंजन का आनंद लेते हैं। मेला में विभिन्न प्रकार के खेल, मनोरंजन और वाणिज्यिक गतिविधियाँ होती हैं। 


निताई गोप ने कहा कि धार्मिक मेलों में मान्यता से धार्मिक और आध्यात्मिक आयोजन होते हैं, जहां श्रद्धालु आते हैं और पूजा-अर्चना करते हैं। मेला एक मनोहारी और रंगीन अनुभव होता है जिसमें सभी उम्र के लोग शामिल हो सकते हैं। यह लोगों को एक-दूसरे से मिलवाने, नई चीजें खरीदने और सांस्कृतिक विरासत को जीने का मौका देता है। यह एक ऐसा सामाजिक मंच है जो अद्वितीय बंधन बनाता है और हमें हमारे देश की विविधता और एकता का अनुभव कराता है। समारोहों के माध्यम से हम अपनी पारंपरिक संस्कृति को संजोने और विकसित करने का अवसर प्राप्त करते हैं। मेले के आयोजन से हमारे देश की गतिशीलता, समृद्धि और सामाजिक संरचना का प्रतीक बनते हैं। मेले के माध्यम से हम न केवल मनोरंजन का आनंद लेते हैं, बल्कि हमें अपनी परंपराओं, धर्म और संस्कृति के प्रति गर्व और सम्मान की अनुभूति भी होती।

No comments:

Post a Comment

GET THE FASTEST NEWS AROUND YOU

-ADVERTISEMENT-

NewsLite - Magazine & News Blogger Template

Domain