Default Image

Months format

Show More Text

Load More

Related Posts Widget

Article Navigation

Contact Us Form

Terhubung


बीआरपीएल कंपनी से लौह अयस्क की ढ़ुलाई लगातार आज दूसरे दिन भी ग्रामीणों ने रखा बाधित, मांगों के लिए अड़े ग्रामीण, The transportation of iron ore from BRPL company was disrupted by the villagers for the second consecutive day, the villagers were adamant on their demands.



गुवा। सीमावर्ती ओड़िशा स्थित बीआरपीएल कंपनी से झारखंड के रास्ते होने वाली लौह अयस्क की ढुलाई कार्य को बोकना में ग्रामीणों ने लगातार दूसरे दिन भी अवरुद्ध रखा है। माल ढुलाई कार्य को 8 जनवरी की सुबह से ही पूर्व विधायक मंगल सिंह बोबोंगा, दिरीबुरु पंचायत के मुखिया गंगाधर चातोम्बा, वार्ड सदस्य अनीता पुरती, सामाजिक कार्यकर्ता पवन सिंह, विजय बोदरा, सोमा चाम्पिया, दुनिया पुरती, दुम्बी चाम्पिया, अर्जुन समेत अन्य के नेतृत्व में रोका गया है। कंपनी प्रबंधन की तरफ से अभी तक इन आंदोलनकारी ग्रामीणों से वार्ता के लिए कोई अधिकारी नहीं आया है। इससे ग्रामीणों का आक्रोश निरंतर बढ़ता जा रहा है।


आंदोलनकारियों का कहना है कि उनका आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक कंपनी प्रबंधन ग्रामीणों की मांगों को मान नहीं लेती है। पूर्व विधायक मंगल सिंह बोबोंगा ने कहा कि बीआरपीएल कंपनी ओड़िशा में अपना प्लांट लगाकर खनिज सम्पदा को बोकना गांव के रास्ते ढुलाई कर रही है। प्रदूषण फैल रहा है और यहां के ग्रामीण को विभिन्न बीमारियों से ग्रसित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस मामले में झारखंड प्रशासन व वन विभाग उक्त कंपनी को इस कार्य के लिए अंदर हीं अंदर पूरा सहयोग कर रहे हैं। यह कंपनी ग्रामीणों को नौकरी, रोजगार या किसी प्रकार की कोई सुविधा नहीं दे रही है।


उन्होंने कहा कि कंपनी से ग्रामीणों की मांग है कि उसने जहां अपना डैम बनाया है, वहां आसपास रहने वाले 3-4 परिवारों को पक्का मकान बना कर दे। बोकना क्षेत्र के लगभग 20 बेरोजगारों को कंपनी में स्थायी नौकरी, अन्य बेरोजगारों को रोजगार से जोड़ना, बोकना क्षेत्र के लोगों के लिये एक एम्बुलेंस व समय समय पर चिकित्सा शिविर का आयोजन, पारम्परिक पर्व-त्योहार व कार्यक्रम का आयोजन हेतु सामुदायिक भवन, शिक्षा, शुद्ध पेयजल, प्रदूषण नियंत्रण आदि की सुविधा उपलब्ध कराया जाये। अगर कंपनी ऐसा नहीं करती है तो यह आंदोलन अनिश्चितकाल तक जारी रहेगा। इस आंदोलन में अनेक में ग्रामीण व महिलाएं शामिल है।

No comments:

Post a Comment

GET THE FASTEST NEWS AROUND YOU

-ADVERTISEMENT-

NewsLite - Magazine & News Blogger Template

Domain