Default Image

Months format

Show More Text

Load More

Related Posts Widget

Article Navigation

Contact Us Form

Terhubung


सांसद गीता कोड़ा के दिशा निर्देशन में आज दूसरे दिन भी संयुक्त यूनियनों ने अपनी मांगों को लेकर किया प्रदर्शन, Under the direction of MP Geeta Koda, joint unions demonstrated for the second day today regarding their demands.


गुवा। पश्चिमी सिंहभूम सांसद गीता कोड़ा के दिशा निर्देशन में आज दूसरे दिन गुरुवार को शाम 4:00 बजे से संयुक्त यूनियनों, मुंडा मानकी, सेलकर्मी, सप्लाई कर्मी, ठेका मजदूर, गुवा के दुकानदार तथा ग्रामीण क्षेत्र के ग्रामीणों ने स्थानीय को बहाली एवं दूसरे राज्यों से आए 18 लोगों को अभिलंब बहाली को निरस्त करने की मांग को लेकर गुवा सेल के जेनरल ऑफिस समक्ष प्रदर्शन किया। वही सेल प्रबंधन ने प्रदर्शन करने वाले लोगों से निपटने के लिए सीआईएसएफ के जवान तथा झारखंड पुलिस को सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम पहले से कर रखे थे। वहीं इस आंदोलन को लेकर किरीबुरु के इंस्पेक्टर बिरेंद्र एक्का भी गुवा सेल जेनरल ऑफिस पहुंच मोर्चा को संभाले हुए थे। 


ज्ञात हो कि बुधवार को दूसरे राज्य से 18 लोगों को सेल प्रबंधन द्वारा गुवा सेल में जॉइनिंग दी गई है। और यहां के स्थानीय युवा बेरोजगारों को सेल प्रबंधन नौकरी ना देकर दरकिनार कर दिया गया है। संयुक्त यूनियनों में झारखंड मजदूर संघर्ष संघ के केंद्रीय अध्यक्ष रामा पांडे, बोकारो स्टील वर्कर्स यूनियन इंटक के क्षेत्रीय महामंत्री दुचा टोप्पो, सारंडा मजदूर यूनियन के महामंत्री राजकुमार झा, झारखंड मुक्ति मोर्चा यूनियन के अध्यक्ष पंचम जॉर्ज सोय, सीटू के अध्यक्ष मनोज मुखर्जी, सप्लाई मजदूर संघ के अध्यक्ष राजेश कोड़ा ने अपनी मांगों को लेकर गुवा सेल प्रबंधन को मांग पत्र सौंपा। 




उन्होंने अपने मांग पत्र में लिखा कि गुवा खदान आदिवासी बहुल क्षेत्र के सारंडा जंगलों के बीच बसा हुआ है। यहां के स्थानीय वासी राष्ट्रहित एवं उद्योगहित के लिए अपनी कृषि युक्त भूमि का त्याग कर स्वयं बेरोजगारी के कगार पर खड़े हैं। स्थानीय एवं आसपास के ग्रामीण बेरोजगारों के लिए रोजगार का एकमात्र विकल्प गुवा खदान ही है। गुवा सेल प्रबंधन बाहरी युवकों का नियुक्ति कर यहां के स्थानीय बेरोजगार युवकों के अधिकारों का हनन कर रही है। अगर सेल प्रबंधन बाहरी युवकों की बहाली को निरस्त नहीं करता है तो यह आंदोलन को जारी रखते हुए सांसद गीता कोड़ा के दिशा निर्देशन में बैठकर आगे की रणनीति बनाते हुए और भी कड़ा रूप अख्तियार की जाएगी।


इस दौरान इस आंदोलन में करीब 300 की संख्या में सेलकर्मी ,ग्रामीण, मुंडा मानकी, सप्लाई मजदूर, ठेका श्रमिक, दुकानदार तथा ग्रामीण मौजूद थे। आंदोलन करने वालों में मुख्य रूप से रामा पांडे, अंतर्यामी महाकुड, किशोर सिंह, संजू गोच्छाईत, चंद्रिका खंडाईत, आरती होरो, राकेश यादव, रितेश पाणिग्राही, साधना सिंह, राजकुमार झा, कुल बहादुर, दुचा टोप्पो, पंचम जॉर्ज सोय,नरेश दास,नाजीर खान, नोवामुंडी भाग एक जिला परिषद सदस्य सुश्री देवकी कुमारी, पश्चिमी पंचायत मुखिया पद्मिनी लागुरी, पंचायत समिति सदस्य भादो टोप्पो, मनोज मुखर्जी, जयसिंह नायक शाहिद काफी संख्या में संयुक्त यूनियन के पदाधिकारी मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment

GET THE FASTEST NEWS AROUND YOU

-ADVERTISEMENT-

NewsLite - Magazine & News Blogger Template